मंगलवार, 13 अप्रैल 2010

बेव पत्रकारिता को पहलीबार पुलित्जर पुरस्कार

    अभी तक पत्रकारिता के श्रेष्ठ पुरस्कार प्रेस में काम करने वाले पाते रहे हैं। लेकिन इसबार रिकॉर्ड टूट गया है। पहलीबार बेव पत्रकारिता को विश्व विख्यात पुलित्जर पुरस्कार मिला है। SFGate.com के कार्टूनिस्ट और ‘सन फ्रांसिस्को क्रोनिकल’ के सहयोगी और ProPublica  के खोजी पत्रकारों को इसबार का इनाम देने की घोषणा हुई है। ‘प्रो पब्लिका’ के द्वारा सिंडिकेट के रुप में संपादकीय सामग्री विभिन्न अखबारों को दी जाती है। यह संगठन विशुद्ध रुप से ऑनलाइन काम करता है और बेव सामग्री का प्रमुख सिंडिकेट है। यह तरह-तरह की खोजी खबरें अखबारों को मुहैय्या कराता है लेकिन स्वयं बेव पर काम करता है। इस संगठन को ‘फिलाडेल्फिया डेली न्यूज’ के साथ इनाम मिला है। बारबरा लकेर और वेंडी रुडेरमैन (फिलाडेल्फिया डेली न्यूज) को अमेरिका में नशे के शिकार लोगों को पुलिस जिस बर्बर भाव से संभाल रही थी ,उसका इन दोनों पत्रकारों ने भंड़ाफोड किया था जिसके आधार पर बाद में एफबीआई जांच हुई।
    इनके साथ ही ‘प्रो पब्लिका’ के शेरी फिंक को न्यूयार्क टाइम्स मैगजीन के साथ मिलकर एक खोजी स्टोरी  करने के लिए पुरस्कृत किया गया है। यह स्टोरी है कैटरीना तूफान के समय की जब एक अस्पताल के डाक्टर पूरी तरह तरह थक गए थे और समुद्री तूफान की वजह से कटे हुए थे ऐसी अवस्था में इन डाक्टरों ने काम किया था और उसे स्टोरी बनाया ‘प्रो पब्लिका’ ने।





















3 टिप्‍पणियां:

  1. इस टिप्पणी को एक ब्लॉग व्यवस्थापक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  2. इस टिप्पणी को एक ब्लॉग व्यवस्थापक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  3. इस टिप्पणी को एक ब्लॉग व्यवस्थापक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं

विशिष्ट पोस्ट

मेरा बचपन- माँ के दुख और हम

         माँ के सुख से ज्यादा मूल्यवान हैं माँ के दुख।मैंने अपनी आँखों से उन दुखों को देखा है,दुखों में उसे तिल-तिलकर गलते हुए देखा है।वे क...