बुधवार, 23 जून 2010

महाभारत ने रामायण को बाजार में पछाड़ा

( फिल्म रावण का दृश्य)
मुंबई सिनेमा में ‘महाभारत’ और ‘रामायण’ के बीच प्रतिस्पर्धा जारी है। ‘महाभारत’ की तर्ज पर ‘राजनीति’ फिल्म आई है वहीं दूसरी ओर मणिरत्नम की रामायण का तर्ज पर ‘रावण’ फिल्म थियेटर में आयी है। व्यापार करने के मामले में महाभारत ने रामायण को पीछे छोड़ दिया है। ‘राजनीति’ ने 620 मिलियन रूपये यानी 13.4 मिलियन डॉलर का कारोबार किया है। सारी दुनिया में इसे 2200 सिनेमा हॉल में दिखाया गया। जबकि ‘रावण’ को हिन्दी,तमिल और तेलुगू भाषाओं में एक ही साथ सारी दुनिया में जारी किया गया और उसने 530 मिलियन रुपये यानी 11.5मिलियन डॉलर का कारोबार किया। यह भी उतने ही सिनेमा हॉल में दिखाई गयी जितने में ‘राजनीति’ दिखाई गयी थी।  

1 टिप्पणी:

  1. इस टिप्पणी को एक ब्लॉग व्यवस्थापक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं

विशिष्ट पोस्ट

मेरा बचपन- माँ के दुख और हम

         माँ के सुख से ज्यादा मूल्यवान हैं माँ के दुख।मैंने अपनी आँखों से उन दुखों को देखा है,दुखों में उसे तिल-तिलकर गलते हुए देखा है।वे क...